Akelapan shayari in hindi 2023 latest | अकेलापन शायरी 

 

Akelapan shayari
Akelapan shayari

 

 

मुझे तन्हाई ने  जीत लिया है,

जब से तू चला गया,

ये दिल हर पल हार गया है।

 

कोई तो है जो दर्द को समझता मेरा,

अब तो बस तेरी यादों के सहारे

हम जीना सिख गए है।

 

akelapn shayari
akelapn shayari

 

आँखों में नमी है मगर आहें नहीं ,

रोया हमने है रुलाए तुम नही,

 ख़ामोश सी ज़ख्मों के साथ,

दिल तड़फ उठा है मेरा तंग दिलों के साथ।

 

 

अकेलापन के एहसास से बच नहीं सकते,

दिल में है  उलझने सुलझ नहीं सकते,

भूल जाऊं तेरी बेवफाई को मगर,

दर्द से हम कभी बच नहीं सकते।।

 

 

Sad Akelapan shayari in hindi latest 2024 Sad Shayri 20230525 154554 0000
Akelapan ka dard

 

तुम बिन तन्हा तो नही हुआ हूं मैं,

भीड़ में आके तुम्हारी यादें,

हमें अकेला रहने पे मजबूर कर देती है,

 

अकेलापन से अब तो उम्र गुज़र जाएगी,

फना हो जायेंगे हम पर दुनिया बुलाते रहेगी,

 

आ जाना आए बेवफा तू एक बार,

मेरी जनाजा तुझे बुलाती रहेगी,

 

Akelapan shayari Se mila

 

खुशी मांगी थी तुमसे हमने पल भर का,

सजा दे दिया तुमने मुझे उम्र भर का।

 

 

नाराज़ उतना ही रहो तुम हमसे,

जितना के हम सह सके,

कही ऐसा न हो तुम्हारे बिन हमें,

जीने की आदत सी हो जाए।

 

 

अकेलापन से दिल बेचैन है,

दर्द का एहसास हर पल होता है,

 

मरने की अरमां तंग दिलों का है,

तुम साथ नही हो तो

जीने में सजा हो जाता है।

 

 

हम फिर से आयेंगे

अपनी स्तियां बसाने को,

आना मत आए बेवफा

 फिर से मुझे मिटाने को।

 

तोड़ दिया दिल तुमने मेरा मस्तियों में,

जी के दिखाएंगे हम भी तुम्हारे ही बस्तियों में।।

 

मोहब्बत हमने की अदाएं तुमने दिखाया,

बेवफाई तुने की सजा हमें क्यों हो गया?

 

 

अकेलापन  मेरा साथी  है,

तन्हाई ने मेरा हाथ थामा ,

कोई हमसफर नहीं इस जिंदगी में,

बस अकेलापन ही मेरा अपना हुआ।

 

 

अकेलापन से डर नहीं लगता

सिर्फ अकेला हुआ हूं मैं,

जब से तुम चले गए,

तब से तनहा हुआ मैं।

 

 

मुझे जो दोस्त मिले वो भी 

हम से खफा हो गया,

तेरी चाहत में डूबे थे हम

फिर क्यूं तू बेवफा हो गया?

 

Akelapan shayari 2023

 

अकेलापन की अंधी हुई ,

तुम्हारी यादों के बरसात हुआ,

कुछ भी नहीं था बस में मेरा,

इतनी बुरी उस रात हुआ।

 

 

 

 

अकेलापन तो बहुत है मेरे पास,

तन्हाई मेरी साथी है और वो मेरे पास,

जब बातें नहीं होती वो साथ होता है,

मुझे उनसे होता है वफाओं की आस।

 

 

 

akelapan shayari ki raat

 

 

ये रात भी अंधेरे में मजा लेती है,

मेरी मोहब्बत हमें सजा देती है,

वफा की आसरा थी हमें उनसे,

सुबह होते ही फसाना बना देती है।

 

 

तेरी यादों से भरा हुआ है जिंदगी मेरा,

कभी तू भी तो कर के देख इल्तेजा हमारा,

 

Sad akelapan shayari

 

 

अकेलापन के परछाई में गुम हुए हम,

लगता है जैसे आंखें हुई है नम,

जब भी उड़ जाए ख्वाबों का जहां,

उस तराना को याद रखना जो  गुनगुनाते थे हम।

 

 

 

अकेलापन की गूंजे सुनाई देती है,

जब सारे दिन के शोरों में  होता है।

लोग तो अकेलापन में खुद को खो देते हैं,

एक हम है अकेलापन में खुद को पाते हैं।

 

 

 

 

अकेलापन से मेरा मिलना हो गया है ,

जब तन्हाई में होते हैं बेखुदी के वक्त।

कुछ यादों के साथ कुछ  सपनों से,

जीते हैं अकेलापन से गुजरी हुई रात।

 

 

अकेलापन से गुजरी है आज की रात,

जब याद आती है हमें बीते हुए वो रात,

मेरे आंखों में होते उस वक्त,

गमों की एक तूफानी बरसात।।।

 

मोहब्बत में हमें एक दीवार मिला,

कैसे कहे क्या बेवफाई का सिला मिला,

झूठी थी तू पर हमें तेरा दीदार  तो  मिला,

 

 

 

अकेलापन का भार था मेरे सीने में,

जब तुम थे तब मजा था जीने में,

 सारा जहां के हंसी छा जाती थी।

अब तुम नहीं रहे तो बदल रहा सारा जहां,

 

Akelapan shayari latest 

 

 

उनकी की तन्हाई ने सिखाया हमें,

जब आंखों में आंसू आए तो कुछ और हमें,

कुछ रूठे हुए  कुछ बिखरे हुए ख्वाबों से,

उनके साथ गुज़रे हुए पलों सहारा मिला हमें

 

 

 

अकेलापन था जिसे हम रतो में भुला देते,

जब सुबह होती तो उससे फिर मिल जाते,

उसे भुलाना न सिखा न का हुनर मिला हमें

क्यूं हौसला अफजाई कर दिया तुमने।

 

 

 

 

 

अकेलापन का हाथ थाम कर हम तो देखें,

कुछ नहीं मिलता जब हम तन्हा हो जाते।

बिन बात के ही साथ होना होता है, 

दूर होते हुए भी एक  अहसास होता है।

 

Akelapan Hindi shayari 

 

 

अकेलापन से जीत कर हम आज फिर ख़ुश हैं,

 

उस अकेलापन ने हमें अपने दोस्त बना दिया।

 

जब तन्हा महसूस हुआ तो

हमने दोस्तों की तलाश की,

 

आज वो दोस्त हमें अकेलापन से

हमेशा के लिए दूर कर दिया।

 

 

अकेलापन का एक अलग सा मजा है,

जब भी आता है तो खुद को खो जाते हैं।

फिर भी इसे सबसे ज्यादा नफ़रत है,

 

अकेलापन में कुछ ऐसा है.

जो सबको खींच लेता है,

जब हम तनहा होते हैं .

दूर भागने की कोशिश करते हैं।

 

Akelapan shayari 

 

अकेलापन ही सच्चा दोस्त बन गया है,

हर वक्त जिसे  हमसफर मान ते थे,

अब  वो नहीं है पास हमारे ,

इस राह में तन्हा चलते रहते है ।

 

न तन्हाई मिलती न कभी जुदा होते,

काश हम भी मोहब्बातों से अनजान होते.!!

 

न कल इरादे बदले थे

न आज इरादे बदले हैं

बेवफा तेरी यादों में

खुद को अकेला कर बैठे हैं।

 

 

Akelapan shayari की akelepan या तन्हाई. ये ऐसी वक्त होती है जब किसी इंसान को akelepan का ehsaas होता है, और वो एक दूसरे से जुदा हो जाने का महसूस करता है. Akelapan की स्तिथि में उस इंसान के में अक्सर उदासी, बेचैनी,खालीपन ,और अलग अलग दर्द का एहसास होता है. उस वक्त अपने विचारों, भावनाओं अनुभव के साथ अकेला होता है ,और दूसरे लोगों की कमी को महसूस करते रहता है, ये स्तिथि समय पर आती रहती है,और कभी कभी तो कोई कोई इंसान किसी से दूर होने की उम्र भी गुजार देते है,

 

Dear subscriber आप लोग अपने अपने  feedback दें  हमें , और कमेंट कर के बताएं की आप लोगों को शायरी कैसा लगा , हमारी दूसरी website  दर्द भरे गाने की lyric लिखी गई हैं, अगर आप lyric पढ़ना पसंद करते है तो वेबसाइट पे क्लिक कर के पढ़ा सके हैं,

Direct share on any social media platforms

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.